hindi short story in hindi for kids with moral

Here we collect the best hindi short story for kids in hindi language with moral. the hindi short story reading is so simple to read and take a lesson.

मनहूस कौन hindi short story

बहुत पहले की बात है। कही किसी राज्य में एक व्यक्ति रहता था। उस राज्य के लोग उस व्यक्ति को मनहूस कहा करते थे। वे लोग कहते की कोई भी सुबह इस आदमी का चेहरा देख ले तो सारा दिन ख़राब हो जाता है। दिन भर कुछ खाने को भी नहीं मिलता है।

धीरे धीरे यह खबर उस राज्य के राजा के पास पहुंची। राजा ने अपने कुछ सिपाहियों को भेज कर उस व्यक्ति को अपने सामने बुलवाया। वह व्यक्ति काँपते हुए राजा के पास पूछा। राजा ने कहा, “मैंने सुना है की अगर कोई भी तुम्हारा चेहरा सुबह देख ले तो उसका सारा दिन बेकार हो जाता है। “

इस पर उस व्यक्ति ने डरते हुए कहा, “हां जहापना। ” इस  राजा ने कहा इस लिए मै कल सुबह सबसे पहले तुम्हारा चेहरा देखूगा। ऐसा ही हुआ अगले दिन राजा ने उस व्यक्ति का चेहरा देखा। राजा सारा दिन काम के उलझनों में फसा रहा।

वह जब दोपहर को खाना खाने अपने सीढ़ियों से उतर रहे थे तो उनका पैर छलक गया। इससे राजा को इससे काफी चोट आई। राजा अपना भोजन भी नहीं कर पाया। उसने अगले पल ही यह आदेश दे दिया की उस मनहूस को फांसी दे दिया जाए।

अगले दिन सुबह ही उस व्यक्ति को फांसी देने की सारी तैयारियां हो गई। वह राजा भी मौजूद था। उसने उस व्यक्ति से उसकी आखरी इच्छा पूछी तो उस व्यक्ति ने कहा , “मैं कुछ कहना चाहता हु”।

फिर उसने कहा, आपने ने मेरा चेहरा देखा तो आप सारा दिन खाना भी नहीं खा पाए। आप को काफी चोट भी आई। पर मैंने आप का चेहरा देखा तो सारा जिंदगी में कभी खाने के काबिल ही न रह रहा। आप को तो थोड़ी सी चोट आई। पर मै तो अपना जिंदगी खोने जा रहा हु। अब मै मनहूस हु या आप।

यह सुनकर राजा कुछ देर खामोश  रहे। फिर राजा ने आदेश दिया की इस व्यक्ति को छोड़ दिया जाए। इस तरह उस व्यक्ति की जान और इज्जत बच गई।

कहानी की सीख- हमें दूसरों की गलती निकालने से पहले अपनी गलती देखनी चाहिए।

the moral of this hindi short story is We must see our mistake before we make the mistake of others.

Advertisements

डर Hindi story

एक बार की बात है। किसी जंगल में एक लोमड़ी का परिवार रहता था। एक बार उस परिवार का सबसे छोटा बच्चा कही बहार घूम रहा था तभी उसे शेर की आवाज सुनाई। वह इस आवाज से डर कर झाड़ी के पीछे चुप गया।

जैसे जैसे शेर की आवाज करीब आती वह डरता जाता। जब उसने इस आवाज को काफी करीब से सुना और उसे लगा की शेर अब उसके काफी करीब आ गया तो वह लोमड़ी का बच्चा डर के मारे बेहोश हो गया।

अगली बार उस लोमड़ी के बच्चे से शेर का सामना नदी के किनारे हु। इस बार वह लोमड़ी का बच्चा बहुत काम डरा। धीरे धीरे वह शेर से डरना ही भूल गया।

आगे चलकर वह शेर के साथ रहने लगा। शेर को शिकार करने में मदत करता उसके साथ ही अपना भोजन खाता।

कहानी की सीख- हमें पहले किसी भी चीज या काम से काफी डर लगता है। पर बार बार उससे मिलाना या सामना करने से सारा डर खत्म हो जाता है।

the moral of this hindi short story is We are quite afraid of anything or work at first. But meeting or confronting him again and again eliminates all fear.

कुते का आधा रोटी हिंदी कहानी

एक बार की बात है। एक कुते को एक बार गाव से रोटी का आधा टुकड़ा मिला । वह इसे खाने के लिए एक नदी के किनारे गया। वह नदी के किनारे जाकर जब उसने नदी में देखा तो उसे उस नदी में एक कुत्ता देखा। जो कुता उसे नदी में दिख रहा था वह कुत्ता उसे कुते का परछाई था।

उस कुते ने सोचा की मैंने आधा रोटी लिया है। अगर मै उस दुसरे कुते का आधा रोटी ने लू तो मेरे पास एक पूरा रोटी हो जाएगा । उसने यह सोचकर भोकना शुरू कर दिया।

जैसे ही उसने भोकना शुरू किया तो उसके मुह से वह आधा रोटी भी गिर गया। तब जाकर उसे पता चला की यह उस का परछाई ही था । अब उसके पास वह आधा रोटी भी न रहा। इसीलिए कहा गया है की लालच बुरी बला है।

hindi kahani gives many lesson for kids. kids can learn many lesson by hindi story. there are many so famous hindi story available like प्यासा कौआ and Imaandar Lakadhara Kahani.

Advertisements

Previous articleshort hindi story collection for kids with moral छोटी हिंदी कहानी
Next articleStory in Hindi for kids with moral latest Hindi stories
आपका hindikahane.in पर स्वागत है। हम hindikahane.in पर हिंदी कहानी लिखते है। हमे हिंदी स्टोरी लिखना बहुत ही पसंद है। हम हिंदी स्टोरी के साथ ही और तरह की जानकारी भी हिंदी में देते है। आप हमें ईमेल कर सकते है। हमारे ईमेल id: [email protected] है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here