doctor बनने का पूरा तरीका step by step हिंदी में, doctor कैसे बने?

सभी के जीवन में कुछ ना कुछ लक्ष्य होता है। उस लक्ष्य को पाने के लिए सभी जी तोड़ मेहनत करते हैं। यह बेहद जरूरी है कि हम जीवन में अपना एक लक्ष्य निर्धारित करें।

लक्ष्य बनाने के बाद उसी की ओर खूब मेहनत करें जैसे कि यदि आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको पता होना चाहिए कि आपको क्या कुछ करना होगा और कैसे करना होगा।

इन सभी के बारे में पूरी जानकारी इस ब्लॉग में दी जा रही है। डॉक्टर बनने के लिए सबसे पहले आपकी रुचि महत्व रखती है।

यदि आपकी रूचि मेडिकल क्षेत्र में है तो यह क्षेत्र आपकी करियर के लिए ठीक रहेगा क्योंकि बगैर रुचि के जीवन में कुछ भी कर पाना संभव नहीं।

आमतौर पर कई छात्र के मन में सवाल आता है कि डॉक्टर कैसे बने? इससे जुड़ी सभी जानकारी को चलिए हम इस पोस्ट में जानने की कोशिश करते है।

यह भी जानें: scientist कैसे बने

डॉक्टर बनने की step by step प्रक्रिया

डॉक्टर बनने की step by step प्रक्रिया
डॉक्टर बनने की step by step प्रक्रिया

बहुत से नौजवान डॉक्टर बनने की चाहत रखते हैं लेकिन डॉक्टर बनने की पूरी प्रक्रिया उन्हें नहीं पता होती जैसे कि उन्हें 12वीं के बाद किन विषयों को लेकर पढ़ाई करनी चाहिए।

कौन सा प्रवेश परीक्षा (Entrance exam) में अच्छे अंक लाने होते हैं. किस पाठ्यक्रम/कोर्स की फीस कितनी होती है ?

अंतिम प्रश्न जो लोग आमतौर पर पूछते हैं कि यह कितने वर्षीय कोर्स है? आपके इन सभी प्रश्नों का जवाब एक-एक करके नीचे दिया गया है।

1.10th की परीक्षा से पहले ले डॉक्टर बनने का फैसला ले

जैसा कि मैंने आपको शुरू में ही बताया कि आपको लक्ष्य बना लेना चाहिए । लक्ष्य आपके डिसीजन से बनता है।

बिना लक्ष्य के सफलता की सोच करना अंधेरे में तीर मारने के समान है। बिना लक्ष्य के आप जीवन में कुछ बड़ा नहीं कर सकते हैं।

यदि आप डॉक्टर बनने की ख्वाहिश रखते हैं तो आपको 10वीं की परीक्षा पहले ही डिसीजन ले लेना चाहिए कि आप क्या करना चाहते हैं जितना जल्दी निर्णय लेंगे इतनी जल्दी ही आप उस पर काम करना शुरू कर सकते है और आपको जल्द सफलता मिल सकेगी।

2.12 में साइंस स्ट्रीम से पढ़ाई करें

डॉक्टर बनने के लिए आप 12 में साइंस स्ट्रीम का चयन करे। साइंस स्ट्रीम में दो विकल्प मौजूद होते हैं मेडिकल और नॉन मेडिकल।

जब आप मेडिकल के क्षेत्र में जाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको विषय (subject) के तौर पर फिजिक्स (Physics), केमेस्ट्री (Chemistry),बायोलॉजी (Biology), इंग्लिश के साथ ही एक अन्य सब्जेक्ट को लेना होगा

मेडिकल में आपको गणित लेना जरूरी नहीं होता है लेकिन अपनी इच्छा अनुसार गणित को भी विषय (subject) के रूप में रखकर आप मेडिकल लाइन में जा सकते है.

यह भी जाने: नर्स कैसे बने

3.50%+ अंक हासिल करें

आप को ध्यान रखना चाहिए कि 12वीं में आपके अच्छे प्रतिशत(Percentages) आने चाहिए। कम से कम 50% हासिल करना जरूरी होता है और इससे अधिक अंक लाने पर और भी अच्छा होता है।

इसके बाद आपको एंट्रेंस एग्जाम से गुजरना पड़ेगा। उसमें अच्छे अंक आने पर ही किसी बड़े कॉलेज में दाखिला मिल सकेगा।

एंट्रेंस की तैयारी के लिए आप NCERT की किताबें पढ़ सकते है। NCERT से मूल प्रश्न (Basic question) पूछे जाते हैं। तैयारी के लिए आप किसी अच्छे इंस्टिट्यूट को चुन सकते है।

4.डॉक्टर बनने के लिए MBBS करें

चिकित्सा के क्षेत्र में जाने के लिए यानी डॉक्टर बनने के लिए मेडिकल छात्र को MBBS कोर्स करना पड़ता है लेकिन MBBS में दाखिला लेना इतना आसान नहीं होता है।

इसके लिए आपको इसमें निर्धारित की गई योग्यता के मुताबिक के अनुरूप होना होता है। वही जब आप MBBS के कोर्स में दाखिला लेने में कामयाब हो जाते हैं तब जाकर आपको इसकी डिग्री प्राप्त होती है।

बहुत से लोगों को MBBS का फुल फॉर्म क्या है ये तक पता होता होता। MBBS का फुल फॉर्म  ‘Bachelor of Medicine & Bachelor of Surgery ‘हैं।

इस कोर्स को पूरा करने में 5.5 साल लग जाते हैं वैसे तो आप जानते ही होगे कि धरती पर डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया गया है क्योंकि यह लोगों के जान बचाने के लिए हर आवश्यक प्रयास करते हैं।

5.मेडिकल कॉलेज में दाखिला ले

डॉक्टर बनने के लिए आपको बहुत अधिक पढ़ाई करने की जरूरत पड़ती है बगैर इसके आपको किसी अच्छे कॉलेज में दाखिला नहीं मिलता।

वहीं यदि आप अच्छे से पढ़ाई करते हैं तो आपको किसी सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल जाता है।

सरकारी कॉलेज की फीस अधिक नहीं होती है, इससे आपके ऊपर आर्थिक भार नहीं पड़ता है।

लेकिन जैसा कि मैंने आपको शुरुआत में ही बताया इसके लिए आपको बहुत अधिक पढ़ाई करने की आवश्यकता है क्योंकि एडमिशन के लिए आपको पहले प्रवेश परीक्षा को निकालना होगा।

यदि आपने एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे नंबर हासिल किए हैं तो निश्चय ही आपको किसी अच्छे सरकारी कॉलेज में दाखिला (Admission) मिल जाएगा लेकिन नंबर कम होने की स्थिति में आपको सरकारी की जगह प्राइवेट (Private) में कॉलेज दाखिला लेने की मजबूरी होती है।

वहां की फीस सरकारी की अपेक्षा बहुत अधिक होती है।

किसी भी सरकारी कॉलेज में होने वाले प्रवेश परीक्षा की जानकारी आप sarkariresult.com या सरकारी वेबसाइट से ले सकते है।

Private college में प्रवेश परीक्षा की जानकारी आपको हर एक private college की वेबसाइट पर आसानी से मिल जाएगी।

भारत की बात करें तो मेडिकल के लिए यहां पर तरह-तरह केप्रवेश परीक्षा आयोजित होते हैं। जिनमें NEET, AIIMS, JIPMER, AU AIMEE आदि शामिल है।

कॉलेज में दाखिले के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक प्राप्त करने होंगे इसलिए मेडिकल लाइन में जाने वाले छात्र को सलाह दी जाती है कि वह 11वीं और 12वीं के सभी टॉपिक को अच्छे से पढ़े।

एक अच्छी रणनीति के तहत एंट्रेंस की तैयारी करें तभी आप को दाखिला मिल सकता है।

यह भी जानें: टीचर कैसे बने

मेडिकल की पढ़ाई का खर्च

प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेने के दौरान आपको सालाना खर्च 100000 (एक लाख) से 500000 (पाँच लाख) तक हो सकता है।

वहीं दूसरी ओर सरकारी कॉलेज में दाखिला मिलने पर आपको 30000(तीस हजार) से लेकर 100000 एक लाख का खर्च करना पड़ेगा।

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि आपके पास सरकारी कॉलेज में दाखिला लेना कितना अच्छा विकल्प है क्योंकि इसमें प्राइवेट की अपेक्षा कम फीस लगती है।

इसके अलावा यदि आपकी आर्थिक स्थिति सरकारी कॉलेज में फीस भरने की भी नहीं है, तो अंतिम विकल्प के तौर पर आप AIIMS मैं एडमिशन ले सकते हैं।

इस कॉलेज में MBBS कोर्स महज 6000 में पूरा हो जाएगा। लेकिन इसके लिए आपको काफी मेहनत करनी पड़ेगी, क्योंकि इस कॉलेज में सीट काफी कम होती है।

यहां पर एक बात जो खुलकर आती है कि यदि आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी होनी चाहिए और यदि आर्थिक स्थिति ठीक नहीं तो ऐसे में आपको खूब मन लगाकर पढ़ाई करनी चाहिए।

डॉक्टर पेशे में शुरआती सैलरी

MBBS की डिग्री लेने के बाद शुरुआती तौर पर एक डॉक्टर को अच्छी सैलरी मिलती है।

यदि आप कोई नए डॉक्टर है ऐसे में आपकी वेतन (salary) 30,000 तक हो सकती है, और जैसे-जैसे अनुभव (Experience) होता जाता है डॉक्टर की सैलरी बढ़कर 100,000 (एक लाख) तक की हो सकती है।

डॉक्टर किसी भी सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल में कार्य कर सकता है। इसके अलावा यदि वह अपने क्लीनिक (clinic) की खोलने को इच्छुक है तो इसे खोल कर भी लोगों की सेवा कर सकता है।

आगर  आप  अपना  करियर इसी क्षेत्र में बनाने की सोच रहे  है तो आपको अपना पूरा फोकस अपने सपने की ओर होना चाहिए तभी आपको इस क्षेत्र में सफलता मिल सकेगी।

डॉक्टर बनने का टिप्स

जरूरी विषय पर ज्यादा ध्यान दे

जैसा कि मैंने आपको बताया कि 12वीं में आपको साइंस स्ट्रीम (Science stream) से पढ़ाई करनी होती है। इसको पास करने के बाद ही आप मेडिकल लाइन में एंट्रेंस एग्जाम देने की योग्य होते हैं।

इस प्रवेश परीक्षा में जो प्रश्न पूछे जाते हैं वह प्रश्न 12वीं के के ही होते है, जो कि फिजिक्स (Physics), केमिस्ट्री(Chemistry) और बायोलॉजी (Biology) से आधारित होते हैं। अच्छी तैयारी के लिए आप 11वीं और 12वीं की NCERT से संबंधित टॉपिक को ध्यान पूर्वक पढ़े।

ईमानदारी से पढ़ाई करें

कई बार हमारी आर्थिक स्थिति हमारे सपनों के आड़े आ जाते हैं, इसलिए हमें अपनी आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखकर ही कैरियर का चुनाव करना चाहिए।

यदि आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको मेडिकल के एंट्रेंस एग्जाम की जमकर पढ़ाई करनी चाहिए। जिससे कि आप अच्छे रैंक ला सके। अच्छा रैंक आने पर आपको सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल जाता है।

बस कॉलेज में दाखिला लेना ही सब कुछ नहीं होता है। चाहे आप सरकारी कॉलेज या प्राइवेट कॉलेज में दाखिला ले।

पर आप दिल लगाकर पढ़ाई करें। चाहे आपका कॉलेज जैसा भी हो आपकी मेहनत ही आपको एक सफल डॉक्टर बनाएगी।

यह भी जानें: Pilot कैसे बनें

Previous articleपानी को कैसे बचाएं हिंदी में | save water in Hindi
Next articleपुलिस कैसे बने? पुलिस बनने का पूरा तरीका हिंदी में
आपका hindikahane.in पर स्वागत है। हम hindikahane.in पर हिंदी कहानी लिखते है। हमे हिंदी स्टोरी लिखना बहुत ही पसंद है। हम हिंदी स्टोरी के साथ ही और तरह की जानकारी भी हिंदी में देते है। आप हमें ईमेल कर सकते है। हमारे ईमेल id: [email protected] है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here