बेस्ट 5+ सच्ची हॉरर स्टोरी हिंदी में | काफी डरावनी हॉरर स्टोरी

best real Hindi Horror Story in Hindi. all the horror story is real horror story in hindi. when you read this all horror story then you fill real horror story.

वैसे तो हमने और आप ने बहुत से Hindi Horror Story पढ़े होंगे। पर यहाँ पर जो हमने Hindi Horror Story की कहानी लेकर आये है वह वास्तव में डरावनी है। इन्हे पढ़ने के बाद आप सोचन में पड़ सकते है।

list of real horror stories in hindi

1. डायन के बदले की आग real horror story in hindi

best real Hindi Horror Story
best real Hindi Horror Story

महराष्ट्र राज्य के नांदेड़ ग्राम के निकट रायपुर इलाके में आज भी खून की प्यासी डायनों का बसेरा है। स्थानीय लोगो का मानना है। कि यहां रात में गुजरने वाले लोगो को डायन पहले तो अपने वश में करती लेती है और बाद में उस इंसान का खून पीकर स्वय को अमर करती हैं। वहा माना जाता है कि यह इलाका डायनो का है। यहां पर इंसान का कदम रखना खतरे से खाली नहीं है।

और अगर आप वहा पर गए तो किसी तरह की चूक आपके लिए काफी नुकसान दयाक साबित हो सकती है। अगर आपको यह यकीन ना हो रहा हो तो आप यहां पर किसी भी पेड़ों में कील गाड़ कर खुद ही देख लीजिए। लेकीन आप लोगो का मौत से सामना जरूर हो जाएगा। आप लोगो को भले ही यह अंधविश्वास या उनश्रद्धा लग रहा हो तो। इस भूतिया गांव का यही दस्तूर है।

इस भूतिया गांव को अभिशप्त माना जाता है। यहां पर एक-दो नहीं बल्कि सारे इलाको में डायनों का बसेरा जमा हुआ है। नांदेड़ के निकट इस छोटे से गांव में डायनों की अब पूरा राज्य बसा हुआ है। यहां पर ऐसा माना जाता है। कि पहले यहां एक डायन रहा करती थी। लेकिन डायन ने गांव की कुछ लड़कियों की आत्मा को अपने वश में करके उनको अपने साथ लगाई ।

आज वही लड़कियां इन डायनों के साथ मिलकर खुद को अमर रखने की कोशिश करती है। यह गांव की वही जगह है।जहाँ वास्तविकता में यहा के पुरुषों को रात में निकलने पर प्रतिबंध है। कब किस कौन सी जगह पर डायन उन्हें अपने वश में करले कोई नहीं जानता है । अभी तक यहा पर कुल 42 ऐसे मामले आचुके हैं। जिन मेसे पुरुष लापता हो गए ।

लेकिन उनका अभी तक कोई अता-पता नहीं चला है। यही माना जाता है कि डायन उन पुरुषो को डायन ने मार दिया होगा।

रायपुर में पेड़ों को काटने पर भी प्रतिबंध लगाई है । यहां पेड़ों के उपर डायनों के रहने की बात बताई जाती है। एक बार एक पेड़ काटने पर गांव के एक मनुष्य की मौत हो गई थी। तब से ही माना जाता है कि डायन का पेड़ काटने पर ही उसकी मौत हुई।

यहां पर एक टूटी हुई हवेली के अंदर एक छोटी सी कोठरी है। जिसमें कोई भी नहीं आता जाता है और माना जाता है कि इस अंधेरी कोठरी में जो भी गया। वो वापस कभी लौट कर नही आया है। 16 लोगों की मौत की गवाह इस भूतिया कोठरी को यहां के प्रशासन ने भी सील कर दिया है। डायनों को अपने वश में करने के लिए यहा पर कई तांत्रिकों ने अपनी पूरी शक्ति लगा दी।

लेकिन इस बीच 5-6 तांत्रिकों को भी मौत हो गई । जिसके बाद तांत्रिक भी यहां की डायनों को अपने वश में करने से घबराने लगे। कहा जाता है कि गांव में हर अमवस्या और पूर्णिमा की रात को कोई बहार नहीं निकल। हालांकि यह काफी पुरानी बात है।

Advertisements

अब लोग अपने घरों को अच्छे से बंद करके घरो में रहते हैं। गांव के कुछ लोगों ने यह अनुभव किया है कि अक्सर रास्ते में चलते वक्त उन्हें अजीबोगरीब आवाजें सुनाई देती है।

लेकिन पीछे मुड़ने पर कोई नहीं होता। गांव के रंजीत नाम के व्यक्ति ने तो अपनी बाइक पर एक डायन को लिफ्ट तक दी थी। काफी लंबा रास्ता तय करने के बाद उसे अहसास हुआ कि उसके पीछे कोई बैठा हुआ है पर उसने जब पीछे मुड़ कर देखा तो कोई नही था। रायपुर के लोगो का मानना है।

कि यहां कई साल पहले एक खूबसूरत महिला के साथ गांव के कुछ लोगों ने बलात्कार किया था। उसे बंदी बनाकर रख लिया और बाद में उस महिला की बेरहमी से हत्या कर दी। इसके बाद वही डायन बनकर यहाँ अपना बदला पूरा करती है।

इस ghost कहानी को भी पढ़े: नाग पंचमी का रहस्य

2. एक राजा की आत्मा ने भलाई की

Hindi Horror Story एक राजा की आत्मा ने भलाई की
Hindi Horror Story एक राजा की आत्मा ने भलाई की

आज मै आपको एक राजा के बताने जा रहा हु। जो भारत देश में मुई थी। जिसे हम कभी सोने की चिड़िया कहते थे। लेकिन अंग्रेज लोगो ने हम आरा सारा सोना भारत से लुटकर अपने देश ले गये | लेकिन अभी भी भारत के कई हिस्सों में प्राचीन समय का बहुत सा खजाना गड़ा हुआ है। जिसे चोरी हो जाने के डर से जमीन में गाड़ देते थे। और उनकी मौत के बाद वो सोना-चांदी कही धरती के गर्भ में गड़ा हुआ रहेता था।

ऐसा ही एक घटना मध्य प्रदेश के दांगड जिले के डौंडिया खेड़ा गांव में हो रही है। जहा के एक आदमी को एक आत्मा ने बताया की इस हवेली के नीचे सोना-चांदी गडा हुआ है। तो उसने अपनी सरकार को बताया की एक राजा की आत्मा ने मुझको बताया कि जमीन में गडा 10,000 टन सोने का रहस्य उसने मुझे बताया।

जो आज के सोने के रेट के हिसाब से इसकी कीमत तो 200 अरब रुपये के लगभग होगी । कौन थे राजा राम बक्ष ? कहा से आया है यह सोना ? कैसे मौत हुई राजा की ? आइये इन सारे पहलुओ पर प्रकाश डाले के लिए इतिहासकार चंद्रकांत तिवारी के अनुसार क्रांतिकारी शूरवीर राजा ने सन् 1857 की क्रान्ति के दौरान अंग्रेजों को जला दिया था । वह कौन थे और कब से वह इस किले में रह रहे थे। ये किसी को स्पष्ट मालूम नहीं था।

यहां के इतिहासकारों की माने तो 4 जून 1856 की क्रान्ति में डिलेश्वर मंदिर में छिपे बारह अंग्रेज को जिन्दा जला दिया था। इसमें जनरल डीलाफौस भी मौजूद थे। कहा जाता है कि राजा चंडिका देवी के बहुत बड़े भक्त थे। वह रोजाना सुबह मां चंडिका के दर्शन करने के बाद ही सिंघासन पर बैठते थे।

लोगों के अनुसार राजा पूजा करने के बाद अपने गले में एक फूलो की माला जरुर पहनते थे। यही वजह है कि अंग्रेजो को जिन्दा जलाने की सजा के रूप में फांसी की सजा सुनाई गयी. और उनको फांसी पर लटकाया गया । तो उन्हें कुछ नहीं हुआ।

इस तरह तीन बार उनको फांसी दी गयी मगर राजा को कुछ नहीं हुआ।तब राजा राव राम बक्स सिंह ने अपने गले में पड़े फूल की माला को उतार कर फेंका और यमुना से अपनी आगोश में लेने की प्रार्थना की।

Advertisements

उसके बाद जब अंग्रेजो ने उनको फांसी पर लटकाया। तब उनके प्राण शारीर से निकल गए थे । और उस इंसान को को जिस आत्मा ने बताया था । वो आत्मा वही होगी । इसके बाद उस आदमी को थोड़ा बहुत रुपिया मिला और सारा खजाना सरकार को मिल गया।

इस ghost कहानी को भी पढ़े: लड़की के अंदर जिन्न की आत्मा

3.ब्रह्मम राक्षस Horror Story

ब्रह्मम राक्षस Horror Story
ब्रह्मम राक्षस Horror Story

Hindi Horror Story. यह कहानी एक ब्रह्मम राक्षस की है। जिसे आप लोग जानते ही होगे। उस राक्षस का नाम है ब्रह्मम राक्षस है। इस पर कई कहानियां बनाई जाती है और राक्षस के अनेक नाम होते हैं। जैसे की पिसाच,राक्षस,डायन,चुड़ैल,आदि बहुत से नाम होते हैं। तो दोस्तों चलो मैं अपनी कहानी पर आता हूँ। हमारे गांव मैं एक ब्राह्मण रहते है। जिनका नाम दुर्जन सिंह है। दुर्जन सिंह को लोग दुर्जनजी कहकर बुलाते हैं। उनके घर से कुछ दूरी पर एक खेत था।

उस खेत में एक बहुत बड़ा बरगद का पेड़ था। वह बरगद का पेड़ बहुत पुराना था।कुछ समय के बाद उन्होंने उस खेत पर घर बनाने की सोची। पहले वाला घर बहुत छोटा होने की वजह से उन्होंने खेत पर घर बनाने की सोची। उन्होंने उस बरगद के पेड़ को काट वाया और अपना घर बनवा लिया। कुछ दिन तो ठीक ठाक चला पर कुछ दिन बाद दुर्जनजी बड़े परेशान रहने लगे। वह कभी पूजा करते और कभी नहीं।

तो उनकी बीवी ने उनके बदले स्वभाव को देख कर पुछा की तुम आज-काल पूजा नहीं करते हो और आज कल बदले-बदले से रहते हो। कभी बच्चो को डांटते रहते हो। तुम्हे हुआ क्या है? दुर्जनजी के चेहरे पर मुस्कान आई और वह कहने लगे मेरे घर को तोड़ कर अपना घर तो बना लिया है। और इसे क्या पूजा करने के लिए कह रही हो। मैं हितों भगवान् हूँ। इसे पूजा करने की कोई जरूरत नहीं हैं। वो कभी दांत मिजते कभी बड़े प्यार से बोलते कभी आंखें लाल तो कभी सही हो जाते।

उनकी बीवी के शक हो गए। की ज़रूर किसी का साया है और वो बाते ऐसे नही करते हैं। जैसे की उनके अंदर से दो लोग बोल रहे हों। तब उनकी बीवी ने उनको बिठाकर हनुमान चालीसा पढने लगी। वो सोच रही थी अगर कोई होगा

तो भाग जायेगा पर दुर्जनजी पर उसका कोई असर नहीं पड़ा रहा था। वह एक टक लगाये देखे जा रहे थे।उनकी बीवी काफी मंत्र और गायत्री मंत्र पड़े । तभी दुर्जनजी की आंखें लाल हुई और कहने लगे की मैं किसी से नहीं डरने वाला नही हु और तू क्या समझ रही है। मैं इसे ऐसे नहीं छोड़ने वाला हू ।

तब तक उसका छोटा बच्चा वहां आ गया। दुर्जनजी ने उसे जोर से पकड़ कर अपनी तरफ खींचा लिया और ऐसा लग रहा था की उसके सिर को कच्चा ही चबा जाएगे। उसकी मम्मी बोली कि बच्चे को छोड़ दो इसने क्या तुम्हारा बिगाड़ा है।

दुर्जनजी की पत्नी ने अपने बच्चे को अपनी तरफ खीच लिया। उसने फिर पुछा तुम कौन हो और मेरे पति के अंदर क्यू आए हो। आप हमसे क्या चाहते हो?आप हो कौन? तब उसने कहा की अगर अपना भला चाहती हो तो बरगद के पेड़ लगाओ जितना भी हो सकें। पेड़ लगाओ फिर मैं बताऊँगा कि मैं कौंन हूँ और फिर मैं चला जाऊँगा। तब दुर्जनजी की बीवी ने एक सौ एक पेड़ बरगद के लगाये।

एक दिन उसकी पत्नी ने देखा की आज दुर्जनजी सुबह उठकर पूजा पाठ कर के आ चुके हैं। तब दुर्जनजी के अंदर जो साया था उसने बोला मैं तुम्हारे पति को आज छोड़ के जा रहा हूँ। तुम सदा सुखी रहो तुम्हारे आचार-विचार बहुत अच्छे हैं। मैं ब्रह्मम राक्षस हूँ। वैसे मैं किसी को नहीं छोड़ता और न ही किसी से डरता हूँ।

Advertisements

तुम्हारे पति ने मेरे बरगद को काट दिया था। जिस पर मैं हजारों सालों से रह रहा था। मुझे गुस्सा तो आया पर मैं तुम्हारी अच्छाई के कारण मैंने इन्हें छोड़ कर जा रहा हूँ। तुम्हारे पति को छोड़कर तब दुर्जनजी अचानक सही हो गए। तब दुर्जनजी की बीवी की आँखों से आशु निकल आए। तो दोस्तों अगर बुरे के साथ अगर तुम अच्छा करोगे तो एक दिन वह भी अच्छा हो जाता है।

इस ghost story को भी पढ़े: चुड़ैल से शादी करने को उतारू

Read some more Horror Story in hindi

the reading of Hindi Horror Story is like a horror activity done on the front. we collect the best and real Hindi Horror Story in Hindi.

ध्यान दें: यह सब कहानी काल्पनिक है। इन कहानी से किसी भी व्यक्ति और स्थान से कोई सबंध नहीं है।

Previous articlehindi kahaniya for kids with moral interesting hindi kahaniya रोचक हिंदी कहानियाँ
Next articleबेस्ट 5 रियल हॉरर स्टोरी हिंदी में 2021 | खौफनाक हॉरर स्टोरी
आपका hindikahane.in पर स्वागत है। हम hindikahane.in पर हिंदी कहानी लिखते है। हमे हिंदी स्टोरी लिखना बहुत ही पसंद है। हम हिंदी स्टोरी के साथ ही और तरह की जानकारी भी हिंदी में देते है। आप हमें ईमेल कर सकते है। हमारे ईमेल id: [email protected] है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here