CID officer कैसे बनें? cid officer बनने की पूरी जानकारी

CID का फुल फॉर्म Crime Investigation Department (अपराध जांच विभाग) होता है, सीआईडी का काम अपराध प्रकरणों (Crime cases) की जांच करना होता है।

CID ऑफिसर बनने के लिए अधिकतर युवाओं में कुछ अलग ही इंटरेस्ट होता है। सीआईडी ऑफिसर की काम करने की कला तथा जासूसी तरीके से किसी केस को सुलझाने से हम बहुत प्रभावित होते हैं, और बहुत से युवाओं का सपना होता है कि वे भी सीआईडी ऑफिसर बने।

सीआईडी सीरियल और बहुत सी मूवीस में सीआईडी ऑफिसर का केस सॉल्व करने का तरीका देखकर बहुत से लोग आकर्षित होते हैं। खैर सीरियल को छोड़िए, हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे कि आप सीआईडी अफसर कैसे बन सकते हैं?

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए जरूरी पात्रता, आयु सीमा तथा एग्जाम पैटर्न, सभी जानकारी इस आर्टिकल में विस्तार से दी गई है।

सीआईडी पुलिस संगठन की एक महत्वपूर्ण इकाई होती है। सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको तेज दिमाग के साथ-साथ शारीरिक रूप से भी योग्य बनना होगा।

एक सीआईडी ऑफिसर हर फील्ड में एक्टिव होता है। सीआईडी विभाग में बहुत से पद होते हैं। अलग-अलग पद के लिए अलग-अलग योग्यता निर्धारित की गई है।

अगर आपकी इच्छा एक सीआईडी ऑफिसर बन के देश की सेवा करना है, तो इसके लिए आपको अपने ऊपर विश्वास रख कर धैर्य के साथ मेहनत करनी होगी।

तो चलिए हम आपको बताते हैं कि एक सीआईडी ऑफिसर का काम क्या होता है और आप सीआईडी ऑफिसर कैसे बन सकते हैं?

CID officer के कार्य

सीआईडी विभाग में जो अधिकारी काम करते हैं, उन्हें सीआईडी अफसर कहा जाता है। सीआईडी विभाग में विभिन्न पद होते हैं। सीआईडी विभाग की स्थापना सन् 1906 में हुई थी। सीआईडी पुलिस विभाग की एक महत्वपूर्ण इकाई होती है।

सीआईडी ऑफिसर का काम आपराधिक मामलों की जांच, अपराधिक मामलों के साक्ष्य और तथ्य को एकत्रित करना, डिटेक्टिव के रूप में अपराधियों को खोज कर उन्हें पकड़ना, वारदात के सबूत एकत्रित करना आदि होता है।

Advertisements

सीआईडी विभाग में कुछ अन्य पद जैसे अपराध निरीक्षण, वैज्ञानिक अनुसंधान, फुटप्रिंट ब्यूरो, आदि भी अनेक पद होते हैं। सीआईडी ऑफिसर का मुख्य काम हत्या के मामले, संगीन अपराध, धोखाधड़ी, तस्करी, डकैती और यौन अपराध जैसे मामलों की जांच करते हैं।

सीआईडी विभाग मामलों की जांच कर पाये गये दोषी को अदालत भेज देते हैं। सीआईडी ऑफिसर मामलों की जांच गुप्त रूप से करते हैं तथा सीआईडी विभाग भारत सरकार के अंतर्गत काम करता है।

तो दोस्तों आपको यह पता चल गया है कि सीआईडी ऑफिसर का काम क्या होता है। चलिए हम आपको बताते हैं कि सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए क्या योग्यताएं होनी चाहिए? और सीआईडी ऑफिसर में विभिन्न पद कौन-कौन से होते हैं ?

CID officers rank

सीआईडी ऑफिसर में प्रमुख ADGP होता है। सीआईडी ऑफिसर के अलग-अलग Rank होते हैं। इन्हीं Rank के आधार पर इनकी शक्तियां निर्धारित होती है। सीआईडी ऑफिसर की रैंक पर आधारित पद नीचे लिखे गए हैं।

  • ADGP ( Additional director general of police)
  • IGP ( Inspector general of police)
  • DIG ( Deputy inspector general)
  • SP (superintendent of police)
  • DSP ( Deputy superintendent of police)
  • Inspector
  • Superintendent
  • Sub Inspector
  • Constable

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आयु सीमा

तो चलिए अब हम आपको बताते हैं कि सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए क्या आयु सीमा होनी चाहिए? मतलब सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए क्या न्यूनतम आयु और क्या अधिकतम आयु होनी चाहिए।

आयु सीमा आपकी कैटेगरी पर डिपेंड करती है अलग-अलग कैटेगरी के लिए अलग-अलग आयु सीमा दी गई है जो निम्न प्रकार है:

● जनरल कैटेगरी में आने वाले आवेदकों की आयु सीमा 20 से 27 वर्ष के बीच होनी चाहिए। मतलब सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए जनरल कैटेगरी के आवेदक की न्यूनतम आयु 20 वर्ष और अधिकतम आयु 27 वर्ष होनी चाहिए।

●3 वर्ष की छूट के साथ ओबीसी कैटेगरी के आवेदकों की आयु सीमा 20 से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए। मतलब ओबीसी कैटेगरी मैं आने वाले आवेदक की न्यूनतम आयु 20 वर्ष तथा अधिकतम आयु 30 वर्ष होनी चाहिए।

●5 वर्ष की छूट के साथ Sc/St कैटेगरी में आने वाले आवेदकों की आयु सीमा 20 से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए। मतलब जो आवेदक sc/st कैटेगरी में आता है। उसकी न्यूनतम आयु 20 वर्ष तथा उस की अधिकतम आयु 32 वर्ष होनी चाहिए।

  • केटेगरी : आयु सीमा
  • General : 20-27 वर्ष
  • OBC : 20-30 वर्ष
  • Sc/St : 20-32 वर्ष

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए शैक्षिक योग्यताएं

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आवश्यक शैक्षिक योग्यताएं नीचे दी गई हैं। उन्हें कंप्लीट करने के बाद आप सीआईडी ऑफिसर के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

Advertisements

●सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपके पास भारत की नागरिकता होनी चाहिए।

●सीआईडी विभाग में कॉन्स्टेबल रैंक का पद पाने के लिए आपको कम से कम 12वीं कक्षा पास होना जरूरी है। आप किसी भी सब्जेक्ट से 12वीं क्लास पास कर सकते हैं।

●सीआईडी विभाग में बड़े पोस्ट पर आवेदन करने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन को पूरा करना होता है।

अगर Criminology कोर्स/सब्जेक्ट के साथ ग्रेजुएशन पूरी करते हैं तो यह आपके लिए और भी ज्यादा बेहतर होगा।

●सीआईडी ऑफिसर के लिए महिला तथा पुरुष दोनों आवेदन कर सकते हैं।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए शारीरिक योग्यताएं

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता के साथ-साथ कुछ शारीरिक योग्यताएं भी आवश्यक होती हैं। सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आवश्यक शारीरिक योग्यताएं कुछ इस प्रकार हैं :

● ऊंचाई :- सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए पुरुषों की ऊंचाई 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए और महिलाओं की ऊंचाई 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए। पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले पुरुषों के लिए 5 सेंटीमीटर ऊंचाई की छूट दे दी जाती है।

● सीना(छाती) : 76 सेंटीमीटर (छाती फुलाकर)

● नेत्र दृष्टि: पास की दृष्टि: एक आँख में 0.6 तथा दूसरी आँख में 0.8 होनी चाहिए।
डिस्टेंस विजन: एक आंख में 6/6 तथा दूसरी आँख में 6/9 होनी चाहिए।

अगर आपके शरीर में यह सभी योग्यताएं हैं तो आप सीआईडी ऑफिसर बनने की प्रबल दावेदार हो सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको लिखित परीक्षा भी पास करनी होती है।

Advertisements

कितनी बार एग्जाम दे सकते है?

वैसे किसी भी एग्जाम में बैठने पर परीक्षार्थी लगभग यही कोशिश करता है कि वह पहली बार में सफल हो जाए। लेकिन आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको Number of Attempts जाना बहुत जरूरी होता है ये निम्न प्रकार से होते हैं

  • जनरल कैटेगरी में आने वाले आवेदक अपनी आयु सीमा के भीतर चार बार एग्जाम दे सकते हैं।
  • ओबीसी कैटेगरी में आने वाले आवेदक अपनी आयु सीमा में 7 बार परीक्षा के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
  • sc/st कैटेगरी में आने वाले छात्र अपनी आयु सीमा के भीतर अनलिमिटेड बार परीक्षा मैं बैठ सकते हैं

सीआईडी ऑफिसर कैसे बने?

तो दोस्तों अभी तक आपने यह जान लिया है कि सीआईडी ऑफिसर का काम क्या होता है? और सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए क्या आयु सीमा होनी चाहिए ?

तथा इसके लिए क्या-क्या आवश्यक योग्यताएं होनी चाहिए? अब आपको हम बताएंगे कि सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए चयन प्रक्रिया क्या होती है?

सीआईडी ऑफिसर की परीक्षा हर साल एसएससी(SSC) तथा यूपीएससी के द्वारा आयोजित कराई जाती है। आवेदक को सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए 3 चरणों से गुजरना होता है। पहले चरण में written एग्जाम देनी होती है। दूसरे चरण में आपको physical test पास करना होता है। इन दोनों चरणों में क्वालीफाई होने के बाद आपको तीसरे चरण में इंटरव्यू देने के लिए जाना होता है।

परीक्षा के चरण :

  1. लिखित परीक्षा
  2. फिजिकल टेस्ट
  3. इंटरव्यू

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको ये तीनो चरण पास करने होते है। नीचे आपको बताया गया है इन परीक्षाओं का पैटर्न कैसा होता है।

परीक्षा का पैटर्न

सीआईडी ऑफिसर बनने में written एग्जाम पहला स्टेप होता है। लिखित परीक्षा का आयोजन दो भागों में होता है। पहले भाग में 200 अंक का पेपर देना होता है। इसके लिए 2 घंटे का समय निर्धारित किया जाता है। इसके पाठ्यक्रम में सामान्य जागरूकता, सामान्य बुद्धि, अंग्रेजी की समझ तथा मात्रात्मक योग्यता शामिल होते हैं।

इसमें नेगेटिव मार्किंग भी शामिल होती है। आपके द्वारा एक प्रश्न का गलत उत्तर देने पर आपके द्वारा जो अंक प्राप्त किए जाते हैं। उन प्राप्त अंको में से 0.25 अंक काट लिए जाते है।

अब बात करें दूसरे भाग की परीक्षा की तो दोस्तों दूसरे भाग की परीक्षा में 400 अंकों का प्रश्न पत्र होता है। इसे आपको चार घंटे में हल करना होता है।

इसके पाठ्यक्रम में गणितीय क्षमता तथा अंग्रेजी की समझ से प्रश्न पूछे जाते हैं। इसमें भी नेगेटिव मार्किंग शामिल होती है। तथा प्रत्येक गलत उत्तर देने पर आपके द्वारा प्राप्त अंकों में से 0.50 अंक कम कर लिए जाते हैं।

Advertisements

लिखित परीक्षा में क्वालीफाई होने के बाद आपको फिजिकल टेस्ट क्वालीफाई करना पड़ता है। आपको फिजिकल टेस्ट पास करने के लिए फिजिकल फिट होने के साथ-साथ मेंटली स्ट्रांग भी बनना पड़ता है।

लिखित परीक्षा और फिजिकल टेस्ट को पास करने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इंटरव्यू कुल 100 अंकों का होता है। इसे पर्सनैलिटी टेस्ट भी कहा जाता है। लिखित परीक्षा फिजिकल टेस्ट और इंटरव्यू तीनों पास करने के बाद ही आप सीआईडी ऑफिसर बन पाएंगे।

CID officer की वेतन

यूपीएससी द्वारा आयोजित कराई जाने वाली सीआईडी विभाग की परीक्षा का पैटर्न तथा उसका पाठ्यक्रम जानने के बाद अब आपके मन में यही प्रश्न उठता होगा कि सीआईडी ऑफिसर को आखिर कितना वेतन मिलता है।

सीआईडी ऑफिसर की मासिक वेतन उनकी रैंक के आधार पर पर होती है। सीआईडी में अनेक प्रकार के विभाग होते हैं। सीआईडी अधिकारी का स्तर उसकी वेतन तय करता है। सामान्य रूप से सीआईडी ऑफिसर की सैलरी ₹8000 से ₹25000 प्रति माह होती है।

सीआईडी विभाग में वरिष्ठ अधिकारियों को काफी अच्छी वेतन मिलती है। वेतन के साथ ही उन्हें अनेक प्रकार की सुविधाएं जैसे – आधिकारिक काम के लिए वाहन आदि सुविधाएं दी जाती हैं।

प्रथम प्रयास में सीआईडी ऑफिसर कैसे बने

दोस्तों सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको शुरुआत से ही मेहनत करनी होती है। अगर आप इस स्कूल में पढ़ रहे हैं तो आप अपनी 12वीं तक की पढ़ाई बिल्कुल मन लगाकर करें।

कॉलेज में आप किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से ग्रेजुएशन कर सकते हैं। ग्रेजुएशन में यदि Criminology सब्जेक्ट हो तो और भी अच्छा रहता है।

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए आपको करंट अफेयर्स के साथ कनेक्टेड रहना होता है। दिमाग तेज करने के साथ-साथ धैर्य तथा मजबूत शरीर भी सीआईडी ऑफिसर के पास होना चाहिए।

सार

तो दोस्तों कैसा लगा आपको यह हमारा आर्टिकल कमेंट करके जरूर बताइए। अगर आप एक सीआईडी ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आपको खुद पर विश्वास रखकर कड़ी मेहनत करनी होगी।

सीआईडी ऑफिसर किसी भी केस को पूरे धैर्य के साथ सुलझाते हैं। सीआईडी ऑफिसर को पद के साथ-साथ अच्छा वेतन भी मिलता है।

Advertisements

आपके मन में यदि कोई भी सवाल हो तो कमेंट में जल्दी बताइए साथ ही इस आर्टिकल को उन लोगों के साथ शेयर जरूर कीजिए जो सीआईडी अफसर बनना चाहते है।

Previous articleCBI officer कैसे बने? सीबीआई अफसर बनने की पूरी जानकारी हिंदी में
Next articleशिक्षा का महत्व | importance of education in Hindi
आपका hindikahane.in पर स्वागत है। हम hindikahane.in पर हिंदी कहानी लिखते है। हमे हिंदी स्टोरी लिखना बहुत ही पसंद है। हम हिंदी स्टोरी के साथ ही और तरह की जानकारी भी हिंदी में देते है। आप हमें ईमेल कर सकते है। हमारे ईमेल id: [email protected] है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here