Software engineer कैसे बने? सॉफ्टवेयर इंजीनियर का काम, कॉलेज का फीस और सैलरी

आज के समय में बहुत से छात्र का यह सपना है कि वह एक software engineer बने ज्यादातर बच्चे तो बचपन से ही अपने मन में ठान लेते हैं कि उन्हें बड़ा होकर software engineer बनना है।

क्योंकि आज के समय में सभी कंपनियों में सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सबसे ज्यादा डिमांड है और software engineer को सबसे ज्यादा सैलरी भी दी जाती है लेकिन हर कोई व्यक्ति सॉफ्टवेयर इंजीनियर नहीं बन सकता।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपके पास कुछ योग्यता होनी चाहिए और Software Engineer बनने के लिए आपको बचपन से ही मेहनत करनी पड़ती है, तभी जाकर आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हैं।

आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको बताएंगे कि Software Engineer कैसे बने तथा Software Engineer का काम क्या होता है?

यह भी जानें: Scientist कैसे बने

Software engineer का काम क्या होता है

ज्यादातर लोगों का यही सवाल होता है कि Software Engineer Kya Hota Hai हम आपको बता दें कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर को सॉफ्टवेयर डेवलपर भी कहा जाता है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर का काम mobile, computer आदि के लिए program और Applications बनाना और Develop करना होता है। अगर कोई भी Applications बनाई जाती है या computer का कोई भी program बनाया जाता है, तो वह एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के द्वारा ही बनाया जाता है।

क्योंकि इनको बनाने के लिए एक अलग तरीके की language का इस्तेमाल किया जाता है, जो कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर को ही आती है। क्योंकि software engineer को उस language के बारे में Engineering करते समय पढ़ाया जाता है।

software engineering के अंतर्गत जितने भी लैंग्वेज आती हैं। वह सब कोई आम language नहीं होती उन्हें समझना काफी कठिन होता है, जो कि एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के द्वारा ही संभव है।

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के बहुत से कार्य हो सकते हैं जैसे कि :-

Advertisements
  • Programming करना
  • Software Development करना
  • Computer/Laptop के Software बनाना
  • Software Testing करना
  • Algorithm Design And Analysis करना
  • Mobile App बनाना 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर के कार्य में यह सभी काम शामिल होते हैं। एक software engineer कई Application, Program बनाने से लेकर उनमें आने वाली समस्या को भी ठीक करने का काम भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर का ही होता है।

Languages Of Software Engineering In Hindi?

जो कोई भी व्यक्ति Software Engineering करता है, उसे अलग-अलग प्रकार की language को समझना पड़ता है। क्योंकि उन्हीं Language के माध्यम से वह आगे भविष्य में Software Develop करता है और सॉफ्टवेयर बनाता है। इसीलिए इन विभिन्न प्रकार की language को समझना बहुत जरूरी होता है जैसे कि :-

  • C Language
  • C++ Language
  • MATLAB
  • (.)Net
  • Java
  • SQL
  • Ruby
  • Python

यह भी जानें: टीचर कैसे बने

Software Engineer कैसे बने

Software Engineer कैसे बने
Software Engineer कैसे बने

अगर कोई भी व्यक्ति सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहता है तो उसे बचपन से ही अपने मन में यह ठान ना होता है कि उसे बड़ा होकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना है क्योंकि सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की शुरुआत बचपन से ही करनी पड़ती है।

सबसे पहले तो आपको यह निर्धारित करना पड़ता है कि आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करना है या फिर ग्रेजुएशन करनी है क्योंकि दोनों का प्रोसेस अलग-अलग होता है, इसीलिए आपको पहले यह सुनिश्चित करना पड़ता है सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा तो आप दसवीं कक्षा के पश्चात भी कर सकते हैं।

यदि आप ग्रेजुएशन करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको 12वीं कक्षा पास करनी पढ़ती है, Eligibility For Software Engineering In Hindi के बारे में आगे हम अच्छे से जानेंगे।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए योग्यता

अगर आप software engineer बनना चाहते हैं, तो इसके लिए आप Diploma और Graduation दोनों कर सकते हैं। यदि आप Diploma in Software Engineering करना चाहते हैं,

तो इसके लिए आपको सबसे पहले 10वीं कक्षा पास करनी पड़ती है और दसवीं कक्षा में आपके कम से कम 60% अंक होने चाहिए, तभी आप Diploma in Software Engineering में Admission ले सकते हैं।

इसके अतिरिक्त यदि आप Graduation in Software Engineering करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको 10वीं कक्षा के पश्चात Science Subjects से 12वीं कक्षा पास करनी पड़ती है और 12वीं कक्षा में भी आपके कम से कम 60% अंक होने बहुत जरूरी है, तभी आप Graduation in Software Engineering कर सकते हैं।

Admission Process Of Software Engineering In Hindi ?

अगर कोई भी व्यक्ति सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में दाखिला लेना चाहता है तो इसके लिए उस व्यक्ति को कॉलेज का निर्धारण भी करना होता है क्योंकि हम आपको बता दें कि यह एक ऐसा कोर्स है।

Advertisements

जो आप सरकारी और प्राइवेट दोनों ही कॉलेजेस से कर सकते हैं, यदि आप सरकारी कॉलेज से इस कोर्स को करते हैं तो आपको ज्यादा फायदा मिलता है।

क्योंकि सरकारी कॉलेज में इस कोर्स की फीस काफी कम होती है लेकिन प्राइवेट कॉलेज में काफी ज्यादा होती है तो चलिए अब हम आपको Admission Process Of Software Engineering In Hindi के बारे में बता देते हैं

सरकारी कॉलेज

अगर आप Government college के माध्यम से Software Engineering Course करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको सरकारी कॉलेज में Admission लेने के लिए एक एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है।

उसके पश्चात सरकारी कॉलेज से Software Engineering Course कर सकते हैं। 10वीं और 12वीं दोनों कक्षाओं के पश्चात entrance exam करवाए जाते हैं। आप डिप्लोमा और ग्रेजुएशन जो भी करना चाहते हैं, उसी के हिसाब से entrance exam को पास करके सरकारी कॉलेज से इस कोर्स को कर सकते हैं।

निजी कॉलेज

अगर कोई व्यक्ति सरकारी कॉलेज में दाखिला नहीं ले पाता, तो वह private college से भी software engineering के कोर्स को कर सकता है। Private college से इस कोर्स को करने का तरीका बिल्कुल साधारण है।

आप 10वीं और 12वीं के पश्चात अपनी इच्छा के अनुसार किसी भी अच्छे private college में admission ले सकते हैं।

यह भी जानें: Bank manager कैसे बने

Courses Of Software Engineering In Hindi ?

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के अंतर्गत बहुत से कॉलेज आते हैं, जो आप कर सकते हैं जैसे कि :-

  • B.Tech – Bachelor Of Technology (CS, IT)
  • B.C.A. – Bachelor Of Computer Application
  • B.Sc – Bachelor Of Science (CS)
  • Polytechnic Diploma (Computer Science)

Top universities for software engineering (Hindi)

  • देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी, इंदौर
  • नेताजी सुभाष इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चेन्नई
  • द ऑक्सफोर्ड कॉलेज ऑफ साइंस, बैंगलोर
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय
  • नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी
  • लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की फीस

अगर हम बात करें कि Software Engineering की फीस कितनी होती है तो हम आपको बता दें कि, सरकारी और private college के हिसाब से तथा कोर्स के हिसाब से इस कोर्स की अलग-अलग फीस हो सकती है।

अगर आप government college से Diploma in Software Engineering करते हैं, तो इस कोर्स की फीस ₹10000 से लेकर ₹15000 तक 1 साल की हो सकती है। इसके अतिरिक्त यदि आप private college से यह कोर्स करते हैं, तो ₹40000 से लेकर ₹75000 तक 1 साल की फीस हो सकती है।

Advertisements

अगर कोई व्यक्ति Graduation in Software Engineering किसी government college से करता है, तो उसकी 1 साल की फीस ₹18000 से लेकर ₹26000 तक हो सकती है।

इसके अतिरिक्त यदि आप Private College से Graduation in Software Engineering करते हैं, तो 1 साल की फीस ₹80000 से लेकर ₹150000 तक हो सकती है।

हम आपको बता दें कि वैसे तो प्राइवेट कॉलेज में फीस हमेशा कॉलेज के ऊपर निर्भर करती है कि, कॉलेज किस प्रकार की सुविधाएं छात्रों को प्रदान करवा रहा है।

इसीलिए प्राइवेट कॉलेज में कोई भी फीस निर्धारित नहीं है, सुविधाओं के अनुसार फीस बढ़ और घट सकती है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग करने के पश्चात क्या करें

बहुत से लोगों के मन में यह विचार भी आता है कि Software Engineering करने के बाद क्या करे? तो हम आपको बता दें कि यदि आपने Diploma in Software Engineering किया है तो इसके पश्चात आप यदि नौकरी नहीं करना चाहते तो आप Graduation in Software Engineering कर सकते हैं।

यदि आपने Graduation in Software Engineering Course किया है, तो इसके पश्चात आप नौकरी करने के साथ-साथ आगे Masters in Software Engineering Course भी कर सकते हैं।

यह एक Master Course होता है जिसे करने के पश्चात आपको software engineering के बारे में सब बातें पता लग जाती हैं और उसके पश्चात आप किसी को भी software engineering के subject भी पढ़ा सकते हैं।

यदि कोई भी व्यक्ति Government Job के लिए आवेदन देना चाहता है तो software engineering करने के पश्चात सरकारी नौकरी के लिए भी आवेदन दिया जा सकता है।

इसके लिए आपको इंतजार करना पड़ेगा क्योंकि जब सरकारी नौकरी के फॉर्म निकलते हैं, तो आपको तभी उसे भरने होंगे और फिर Written exam को पास करके आप सरकारी नौकरी हासिल कर सकते हैं।

Software Engineer की सैलरी कितनी होती है

Software Engineer की सैलरी उसकी नॉलेज पर निर्भर करती है। अगर कोई व्यक्ति Diploma in Software Engineering करता है और उसे काफी अच्छी नॉलेज है, तो उसे शुरुआत में ही कोई भी अच्छी कंपनी नौकरी दे सकती है और शुरुआत में ही उस व्यक्ति को ₹20000 से लेकर ₹25000 तक की नौकरी मिल सकती है।

Advertisements

इसके अतिरिक्त जिन लोगों को कुछ खास नॉलेज नहीं होती है तो उन्हें ₹10000 से लेकर ₹15000 तक की नौकरी भी बड़ी मुश्किल से मिलती है। इसीलिए Software Engineering के Course में आपको जो कुछ भी सिखाया जाता है, आपको बिल्कुल अच्छे से समझाए।

अगर आपने Graduation in Software Engineering की है तो इसको करने के पश्चात आपको यदि अच्छी Knowledge है, तो शुरुआत में ही ₹30000 से लेकर ₹35000 की नौकरी भी आपको मिल सकती है।

इसके अतिरिक्त अगर आपको कुछ खास Knowledge नहीं है, तो आपको ₹15000 से ₹20000 की नौकरी बड़ी मुश्किल से मिल पाती है। इसीलिए यही कहा जाता है कि, आपको software engineering के कोर्स में ज्यादा से ज्यादा Knowledge प्राप्त करने की कोशिश करनी चाहिए।

यह भी जानें: वकील कैसे बने

निष्कर्ष

हम उम्मीद करते हैं कि आपको Software Engineer कैसे बने से संबंधित हमारी यह पोस्ट काफी पसंद आई होगी। इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको Eligibility For Become a Software Engineer In Hindi तथा Software Engineer की सैलरी कितनी होती है इसके बारे में बताया है।

इसके अतिरिक्त हमने आपको Fees Structure Of Software Engineer In Hindi तथा Software Engineering के बाद क्या करे? यह भी बताया है।

अब भी यदि आपको हमसे Software Engineer कैसे बने से संबंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो, तो आप कमेंट सेक्शन में कमेंट कर सकते हैं।

यह भी जाने: How to become an Engineer in hindi

Previous articleवन, जंगल का महत्त्व हिंदी में | Importance of forest in hindi
Next articleजज कैसे बने? जज बनने की पूरी जानकारी हिंदी में
आपका hindikahane.in पर स्वागत है। हम hindikahane.in पर हिंदी कहानी लिखते है। हमे हिंदी स्टोरी लिखना बहुत ही पसंद है। हम हिंदी स्टोरी के साथ ही और तरह की जानकारी भी हिंदी में देते है। आप हमें ईमेल कर सकते है। हमारे ईमेल id: [email protected] है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here